Why You must join Mock Test for MP PSC pre-2019 | मध्य प्रदेश पीएससी2019 के लिए मॉक टेस्ट क्यों लें?

Updated: Aug 17, 2019

In order to get high marks to ensure the success in any exam, be it MPPSC Preliminary 2019 or beyond, you need to understand the power of self-assessment or mock-test or practice-tests. We are presenting there a thought provoking assessment of mock test for civil services. We are highlighting the importance of preparation with online mock test series, which is not being given it due respect till now in MPPSC Pre examination. Non-technical used to neglect this extremely important area of preparation. किसी भी परीक्षा में सफलता सुनिश्चित करने के लिए उच्च अंक प्राप्त करने के लिए, एमपी पीएससी 2019 प्रारंभिक परीक्षा या उसके बाद की अन्य परीक्षाओं के लिए भी आपको आत्म-मूल्यांकन या मॉक-टेस्ट या अभ्यास-परीक्षण की शक्ति को समझने की आवश्यकता है। हम यहां सिविल सेवाओं में सफलता के लिए मॉक टेस्ट के महत्व पर विशेषता से प्रकाश डालेंगे। हम परीक्षण श्रृंखला / पैकेज /ऑनलाइन प्रैक्टिस टेस्ट (MPPSC) के द्वारा तैयारी के महत्व पर प्रकाश डाल रहे हैं, जिसे एमपीपीएससी प्री परीक्षा में अब तक उचित सम्मान नहीं दिया गया है। गैर-तकनीकी क्षेत्र के विद्यार्थी, तैयारी के इस अत्यंत महत्वपूर्ण क्षेत्र की सामान्यतया उपेक्षा करते हैं, तथा परीक्षा परिणाम भी इस बात की पुष्टि करते हैं। अभ्यास प्रश्न या मॉक टेस्ट द्वारा उच्च अंको को प्राप्त करने की कला में सामान्यतया इंजीनियरिंग तथा मेडिकल बैकग्राउंड के विद्यार्थी बाजी मार लेते हैं।


आज के संदर्भ में यह एक बड़ा ही महत्वपूर्ण प्रश्न है कि मध्य प्रदेश पीएससी प्रारंभिक परीक्षा के लिए मॉक टेस्ट, ऑनलाइन प्रैक्टिस टेस्ट, अभ्यास प्रश्न द्वारा MPPSC की तैयारी किया जाना कितना आवश्यक है?


समस्त सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी के लिए अत्यंत विशाल पाठ्यक्रम है, यहां तक कि यह कहना भी अतिशयोक्ति पूर्ण नहीं होगा कि यह एक अथाह सागर के समान है। इसमें ज्ञान के व्यापक दायरे शामिल हैं और लगभग हर विषय की समझ की जरूरत है। लेकिन, यदि आप अपनी तैयारी योजनाबद्ध, केंद्रित, अनुशासन पूर्वक और दृढ़ता से करने के इच्छुक हैं तो प्रारंभिक परीक्षा को भी कम समय में की गई क्रमबद्ध तैयारी के साथ करना संभव है।


मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की राज्य स्तरीय प्रारंभिक परीक्षा में अपने लक्ष्य को समझने के लिए आपको यह जानना होगा कि क्या आप प्रारंभिक परीक्षा के संपूर्ण पाठ्यक्रम को समझ कर उसे लगभग उम्र कर चुके हैं या नहीं। प्रत्येक विषय के समस्त भागों के लिए पिछले वर्षों के पूछे गए प्रश्नों का पैटर्न और वेटेज क्या है, क्या आप इस प्रकार की योजनाबद्ध तैयारी कर चुके हैं? यदि नहीं तो आपकी तैयारी इस दिशा में होना चाहिए कि, किस प्रकार तथा किन माध्यमों से आप बिना ध्यान भटकाए अल्प समय में अर्थात अगले 45 या 60 दिनों में उच्चतम अंको को प्राप्त कर सकें !


तैयारी के दौरान, कई प्रकार के प्रश्न होते हैं जिनमें आप सही उत्तर के लिए शत प्रतिशत निश्चिंत नहीं होते, अतः तकरीबन 60 से 70% प्रश्नों में अनुमान लगाना पड़ता है, अनुमान भी उतना ही महत्वपूर्ण है और सटीकता से अनुमान लगाने की समझ विकसित करने के लिए, मॉक टेस्ट अनिवार्य हो जाता है, यह उन विषयों में भी आपको पारंगत करता है, जिनसे प्रश्न बार-बार पूछे जाते हैं।

राज्य सिविल सेवा संबंधी परीक्षाओं की तैयारी में पाठ्यक्रम की जांच करना, अवधारणाओं को परिभाषित करना, परीक्षा पैटर्न का पालन करना और संख्यात्मक हल करना शामिल है। हालांकि, अधिकांश उम्मीदवार बस तैयारी और तैयारी ही करते रहते हैं, तथा बिना फीडबैक लिए परीक्षा तिथि के लिए बैठे रहते हैं ।


इस प्रकार वे सेल्फ-एसेसमेंट अथवा आत्म परीक्षण के महत्व को समझे बिना अपना कीमती समय खो देते हैं या कम महत्व देते हैं। तैयारी के स्तर पर एक निश्चित जांच बनाए रखने और किसी भी प्रकार की त्रुटियों की पहचान करने के लिए, यह आवश्यक है कि उम्मीदवार एक मॉक टेस्ट लें।


तैयारी के दौरान, कई प्रकार के प्रश्न होते हैं जिनमें आप सही उत्तर के लिए शत प्रतिशत निश्चिंत नहीं होते, अतः तकरीबन 60 से 70% प्रश्नों में अनुमान लगाना पड़ता है, अनुमान भी उतना ही महत्वपूर्ण है और सटीकता से अनुमान लगाने की समझ विकसित करने के लिए, मॉक टेस्ट अनिवार्य हो जाता है, यह उन विषयों में भी आपको पारंगत करता है, जिनसे प्रश्न बार-बार पूछे जाते हैं।


मध्य प्रदेश पीएससी परीक्षा का सामना करने की सफल तैयारी करने का एक सबसे अच्छा तरीका है कि नियमित तथा अनुशासनात्मक रूप से अच्छी संख्या में अभ्यास परीक्षण करें। सर्वप्रथम इस प्रकार की कोई टेस्ट सीरीज जॉइन करें जिसमें पीएससी ऑनलाइन परीक्षा के समान माहौल हो तथा उच्च दर्जे के प्रश्नों का अभ्यास हो । आप जितने अधिक परीक्षण करेंगे, तथा जितना उनसे सीखेंगे, उतना ही आप की तैयारी तथा मनोबल में लगातार निखार सुनिश्चित कर सकेंगे। आप एक मॉक टेस्ट सीरीज़ प्रोग्राम में शामिल हो सकते हैं, जिसमें आपके साथ साथ बड़ी संख्या में अन्य छात्र भी हो, इससे एक बहुत बड़ा फायदा यह है, की इस बड़े सैंपल साइज में आप कहां खड़े होते हैं, यह आप समझ पाएंगे।


अब हम आपको कुछ कारण बताएंगे, जिनसे आप समझेंगे कि आपको मॉक टेस्ट क्यों लेना चाहिए? इस हेतु निम्नलिखित कारण अत्यंत ध्यान देने योग्य हैं:


1. पेपर के पैटर्न को जानने के लिए विद्यार्थी, नियमित रूप से टेस्ट द्वारा अभ्यास करके पाठ्यक्रम और पैटर्न को अधिक बारीकी से जान सकते हैं।


2. सही रणनीति विकसित करने में मदद करता है - मॉक टेस्ट द्वारा अभ्यास कर विद्यार्थी यह पता कर सकते हैं उनकी वर्तमान तैयारी का क्या स्तर है, अतः इनके द्वारा वे कमजोर भाग की विशेषता पूर्वक उच्च स्तर की तैयारी कर सकते हैं तथा ट्रिकी प्रश्नों में की जाने वाली त्रुटियों को दूर करने की कोशिश कर सकते हैं।


3. अपने आप को शेखचिल्ली की दुनिया से स्वयं को बाहर निकालना - परीक्षा की तैयारी करते-करते हम बहुधा मात्र दो चीजों पर ध्यान देते हैं, पहली लगातार पढ़ाई के द्वारा सिलेबस को पूरा करना, तथा दूसरी कि कॉन्सेप्ट्स को समझना तथा तथ्यों का रट्टा मारना। ऐसा करते हुए परीक्षार्थी अधिकतर ऐसा मानने लगते हैं, कि ऐसा करने मात्र से उनकी तैयारी पूर्ण हो जाएगी या हो चुकी है। इस प्रकार अधिकतर परीक्षार्थी अपनी स्वयं की बनाई हुई दुनिया में जीने लगते हैं तथा कल्पना करते हैं कि की बस अब तो मात्र चयन होने की ही देरी है।


टेस्ट के द्वारा कई परीक्षार्थी अपने आप को शेखचिल्ली की दुनिया से स्वयं को बाहर निकालने में सफल होकर वास्तविक दुनिया में आ जाते हैं। सही माहौल में मॉक टेस्ट का अभ्यास करने से परीक्षार्थी अपनी स्वयं की वास्तविक क्षमता से वाकिफ हो जाते हैं तथा यदि उनकी क्षमता उपयुक्त स्तर पर नहीं है, तो वे परीक्षा तैयारी की प्रक्रिया में खुद को पूर्ण रूपेण झोंकने का प्रयास कर सकते हैं। इसके द्वारा परीक्षार्थी बड़ी ही आसानी से रियलिटी चेक कर सकते हैं जो परीक्षार्थियों को वांछित दिशा में कदम उठाने को निर्देशित कर सकता है। इस प्रक्रिया से उम्मीदवार स्वयं को अति आत्मविश्वास तथा हतोत्साहित होने से बचा सकते हैं। मॉक टेस्ट के द्वारा परीक्षार्थी वास्तविक परीक्षा के समान अनुभव प्राप्त कर सकते हैं, जिससे कि वे परीक्षा के दिन के लिए स्वयं को मानसिक रूप से तैयार कर सकते हैं तथा आत्मविश्वास हासिल कर पाएंगे।


4. मॉक टेस्ट, परीक्षा के स्तर को भली-भांति समझने में मदद करते हैं, परीक्षा का स्तर सरल, माध्यम तथा कठिन कितने भी प्रकार का हो सकता है, जिसे विद्यार्थी हल करने पर ही समझ पाएंगे। अतः परीक्षा के विभिन्न पैटर्न तथा कठिनाई के स्तर को परीक्षार्थी कईयों बार प्रश्नों का अभ्यास कर एक प्रकार से सैटेलाइट व्यू द्वारा परीक्षा पाठ्यक्रम तथा अपनी तैयारी का स्तर दोनों को सह-संबंधित कर पाएंगे, कथा इस प्रकार अधिक अंक प्राप्त करने की दिशा में क्या किया जाना चाहिए - से संबंधित कई बातें समझ पाएंगे।


5. प्रश्नों के प्रकार को जानने के लिए - मॉक टेस्ट का अभ्यास करते समय, उम्मीदवारों को परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के प्रकार के बारे में सोचना होगा कि यह किस प्रकार का प्रश्न है तथा इसे कैसे हल किया जाना चाहिए - विश्लेषणात्मक, सैद्धांतिक या गणनात्मक। मॉक टेस्ट आफ को प्रश्नों के प्रकार को समझ कर हल करने में मदद करता है।


6. समय प्रबंधन तकनीक विकसित के लिए - उम्मीदवार मॉक टेस्ट के निरंतर अभ्यास के बाद असल परीक्षा में प्रश्नों को जल्दी और तेजी से हल करने में सक्षम होते हैं।


7. दक्षता में सुधार करने के लिए - परीक्षा में छोटी-छोटी गलतियां अथवा मूर्खतापूर्ण गलतियाँ करने की संभावना कम हो जाएगी क्योंकि मॉक टेस्ट के निरंतर अभ्यास के माध्यम से दक्षता लगातार बेहतर होगी।

टॉप मॉक टेस्ट कई विषयों के लिए पूर्ण लंबाई ऑनलाइन टेस्ट श्रृंखला और लघु ऑन-लाइन अभ्यास परीक्षण देता है। दोनों ही प्रकार के टेस्ट महत्वपूर्ण होते हैं।


नकली परीक्षण वास्तविक परीक्षा परिदृश्य के लिए एक परीक्षण प्रक्रिया के समान है। ईमानदारी से मॉक टेस्ट को हल करने से आपको लगभग सभी विषयों के महत्वपूर्ण हिस्सों को बेहतर तरीके से याद रखने कथा रिवाइज करने में मदद मिलेगी। इस प्रकार, यह निश्चित रूप से कहा जा सकता है कि आधिकारिक मॉक टेस्ट का अभ्यास करने से मध्य प्रदेश पीएससी परीक्षा के चयन में मदद मिल सकती है।


सिर्फ मॉक टेस्ट लेना पर्याप्त नहीं है, बरन अपनी तैयारी के अंतिम 2 महीने में इससे फीडबैक लेकर कम से कम 3 से 4 घंटे चयनित कमजोर भाग की तैयारी को दिया जाना चाहिए , आपको साप्ताहिक रूप से न्यूनतम तीन मॉक टेस्ट लेने चाहिए।


Related posts:


  1. List of Important Committee and Commission of India

  2. Recommended Book-list for MP PSC State Services

  3. MPPSC 2019 Pre Exam syllabus in Hindi and English


[# mppsc online test series, mppsc test series, mppsc online test, mock test ]

0 views

© 2019 by MPPSCCOMPETITION.COM

  • Facebook Social Icon